मिला दिया

वो इतेफाक था या थी

कोई खुदा की साजिश

तेरे खुश रहने की दुआ की

और तुझसे मिला दिया ।

वैसे तो मानते नही

कोई खुदा कोई धर्म

पर तेरे मिलने से

यकीन करने पर मजबूर कर दिया ।

यकीनन वो मेहरबा होगा हम पर

तभी तो आपसे मिला दिया ।

-Sia

4 thoughts on “मिला दिया

Leave A Comment